छत्तीसगढ़ की बेटी ने छू लिया आसमां

 साक्षी चौबे होंगी सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार से सम्मानित

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट.रायपुर . छत्तीसगढ़ का एक छोटा सा गांव। समस्याओं का अंत नहीं। फिर कोरोना का संकट। लेकिन जैसा कि दुष्यंत ने लिखा है- कौन कहता है आसमां में सूराख नहीं होता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो। बस कुछ ऐसा ही कर दिखाया है छोटी सी उम्र में साक्षी ने। बीएससी (बायो) और कम्प्यूटर में अध्ययनरत हैं साक्षी। नवलेखिका हैं , लेखन कार्य के लिए कई सम्मान मिल चुके हैं। 

छत्तीसगढ़ की बेटी ने छू लिया आसमां

      साक्षी चौबे 

लेखन का शौक था। कविता  और आलेख लिखना शुरू किया। समय के साथ-साथ कलम पैनी होती चली गई। जांजगीर-चांपा जिले के गौरव ग्राम सेमरा निवासी साक्षी चौबे बतातीं हैं कि मैं दादाजी को ही अपनी प्रेरणा मानती हूं। अपने माता - पिता को  सफलता का सारा श्रेय देती हूं।

 हम आपको ये सब इसलिए बता रहें हैं क्योंकि छत्तीसगढ़ गो सेवा संगठन ने साक्षी को श्रेष्ठ कविता के लिए छत्तीसगढ़ प्रदेश में  प्रथम पुरस्कार देने का निर्णय लिया है। बता दें कि संगठन ने 20 वर्ष तक के नवलेखक - लेखिकाओं को प्रोत्साहित करने के लिए कवितायें आमंत्रित की थीं। 

नीचे लिखी  कविता  के लिए साक्षी को पुरस्कार दिया गया है। देखिए इस बेटी ने कितनी पॉजिटीव कविता लिखी है।  खबर सबतक 24 की पूरी टीम की ओर से बधाई।

क्यों बैठी है तू निराशा में , 

अतीत से अपने क्लांत हुये।

जो बीते पल जहरीले थे , 

आज क्यूँ उनके नाम जिये।।

झटककर पांव जंजीरों से अब ,

पाबंदियों का त्याग किये।

जो मन बंधा था बेड़ियो से ,

खुद को उससे आजाद किये।।

लहरों सा जो अशांत मन था , 

उसको नदियों सा शांत किये।

क्यों बैठी है तू निराशा में , 

अतीत से अपने क्लांत हुये ॥ 

जो बीत गया सो बीत गया , 

उस कल में आज क्यूँ बर्बाद करें , 

एक नया सवेरा आया है ,

उसको खुशियों के नाम करें।।

पतझड़ के मौसम को फिर , 

सावन में बदलाव किये।

निकलकर घोर अंधेरो से , 

फिर सुबह का आगाज किये।

क्यों बैठी है तू निराशा में , 

अतीत से अपने क्लांत हुये॥ 

तू छू ले उस आसमां को , 

जो बरसों पहले छूटा था।

क्या याद अभी भी है तुझे , 

तेरा जो भी सपना टूटा था।।

तू रुके नहीं तू झुके नहीं , 

तू बस मेहनत कर बढ़ते जायेगा।

आज तो तुझमें उमंग आया है , 

कल दामन खुशियों से भर जायेगा।।

khabarsabtak24.com पर विस्तार से पढ़ें  देश-विदेश की खबरें और अन्य ताजा-तरीन समाचार.

Post a Comment

0 Comments